Home Uncategorized ये है मन्नतों वाली छठ,माँ की हुई कृपा तो टूटा जात-पात का बंधन।

ये है मन्नतों वाली छठ,माँ की हुई कृपा तो टूटा जात-पात का बंधन।

1 min read
0
0
34

छठ को लोक आस्था का महापर्व भी कहा जाता है।लाखों-करोड़ों लोगों की श्रद्धा छठी मइया से है।मन्नत पूरी होने पर भी छठ का व्रत खूब किया जाता है।कई लोग छठी माई से पहले मन्नत मांगते हैं और पूरी होने पर व्रत कर अपनी आस्था प्रकट करते हैं।

             

               

 

      ये हैं अमृता भूषण राठौड़ जो कि बिहार भाजपा में प्रदेश मंत्री हैं।इन्होंने अपनी कड़ी मेहनत और लगन से आज बहुत ही कम समय में पार्टी में इस मुकाम पर हैं। पार्टी के कर्तव्यों का पालन करते हुए साथ ही इन्होंने सामजिक कार्यों में भी बहुत योगदान दिया है।राजनीति में आने से पहले ये बैंक में अफसर पद पर कार्यरत थीं और उसी वक़्त से समाज के हर तबके के लोग गरीब, दलित,शोषित,वंचित,आदि लोगों के समस्याओं का निदान किया है।बिहार भाजपा में महिलाओं के बीच इनका अच्छा पकड़ है। BOWARD नाम की संस्था की ये फाउंडर भी हैं।नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत के कल्पना को साकार करने के लिए इन्होंने एक स्वच्छ कदम नाम की संस्था का मार्गरदर्शन करती हैं। स्वच्छ कदम का मुख्य उद्देश्य एक कदम स्वच्छता की ओर है। ये संस्थान अभी फिलहाल बिहार ,उत्तर प्रदेश के विभिन्न हॉस्पिटल,स्कूल,गंगा घाट इत्यादि जगहों पर काम कर रहा है।
                      
                  
आइये थोड़ा इनके निजी जीवन के बारे में भी बात कर लेते हैं।
                    
                   
बोरिंग रोड की रहने वाली अमृता भूषण राठौड़ सिंह नौ सालों से छठ व्रत करते आ रही हैं।लोकमत लाइव की टीम ने जब उनसे उनके निजी जीवन के बारे में बात की तो मालूम चला कि वो काफी दिन से एक लड़के को पसंद करती थी।घर वालों को ये बात नहीं बता पा रही थी क्योंकि दोनों की जात में फर्क था। जब अपने परिजनों को अपनी पसंद बताई तो घर में बवाल हो गया।कोई चारा न बचा तो लोक आस्था के पर्व का सहारा लिया। छ्ठी मईया से कहा कि अगर शादी मेरी पसंद से हुई तो जीवन भर छठ व्रत करूँगी। उन्होंने लोकमत लाइव की टीम से बताते हुए कहा कि ऐसे में माँ ने सुन ली।अब तो पूरे साल छठ का ही इंतजार रहता है।
   

                      

Load More Related Articles
Load More By Ashish Ranjan
Load More In Uncategorized

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

अगले 24 घंटे दिल्ली की राजनीती पर भारी,राष्ट्रपति का फैसला बीजेपी कांग्रेस के लिए भी होगी अहम

दिल्ली में अरविंद केजरीवाल की सरकार को तीन साल होने को हैं लेकिन अब आम आदमी पार्टी के 20 व…