Home Uncategorized Ease Of Doing Business : पीएम मोदी ने साधा मनमोहन सिंह पर निशाना कहा कुछ लोग वर्ल्ड बैंक के रिपोर्ट पर सवाल उठा रहे

Ease Of Doing Business : पीएम मोदी ने साधा मनमोहन सिंह पर निशाना कहा कुछ लोग वर्ल्ड बैंक के रिपोर्ट पर सवाल उठा रहे

38 second read
0
0
62

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘ईज़ ऑफ डूइंग’ में भारत की रैंकिंग में सुधार को लेकर सरकार की पीठ थपथपाई वहीं कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि कुछ लोगों को ये बात समझ नहीं आती है।
पीएम मोदी ने कहा कि कुछ लोगों को भारत की रैकिंग 142 से 100 होने की बात समझ नहीं आती। उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता। इनमें से कुछ लोग तो पहले वर्ल्ड बैंक में भी रह चुके हैं। वो आज भी भारत की रैंकिंग पर सवाल उठा रहे हैं। यदि इन्सॉल्वेंसी कोड, बैंकरप्सी कोड, कमर्शियल कोर्ट जैसे कानूनी सुधार आपके टाइम में ही हो जाते तो हमारी रैकिंग पहले ही सुधर जाती। यह रैंकिंग आपके सौभाग्य में आती| देश की स्थिति नहीं सुधरती नहीं क्या | किया कुछ नहीं, और जो कर रहा है उस पर सवाल कर रहे हैं|
वैसे ये भी संयोग की बात है कि वर्ल्ड बैंक ने Ease of Doing Business की प्रक्रिया साल 2004 में शुरू की थी। बड़ा महत्वपूर्ण साल है| इसके बाद 2014 तक देश में किसकी सरकार रही ये भी आप सभी को पता है। 

पीएम ने इशारों इशारों में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर हमला करते हुए कहा कि मैं ऐसा प्रधानमंत्री हूँ जिसने वर्ल्ड बैंक का बिल्डिंग भी नहीं देखा है जबकि पहले वर्ल्ड बैंक को चलाने वाले लोग यहाँ बैठा करते थे| 


कांग्रेस पार्टी पर कटाक्ष करते हुय पीएम ने कहा कि मैं तो कहता हूं कि आप वर्ल्ड बैंक की इस रैकिंग पर सवाल उठाने के बजाय हमारा सहयोग करिए ताकि हम देश को और ऊंचे पायदान पर ले जा सकें। न्यू इंडिया बनाने के लिए साथ आगे बढाने का संकल्प करें| 
पीएम ने देशवाशियो से कहा कि इस रैंकिंग को भले Ease of doing Business कहते हैं लेकिन मैं मानता हूं कि ये Ease of doing Business के साथ ही Ease of Living Life की भी रैंकिंग है। ये रैंकिंग सुधरने का मतलब है कि देश में आम नागरिक, देश के मध्यम वर्ग की जिंदगी और आसान हुई है। 
मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूं कि इस रैंकिंग के लिए जो पैरामीटर्स चुने जाते हैं, उनमें से अधिकांश आम नागरिक, देश के नौजवानों की जिंदगी से जुड़े हुए हैं। 

अपने सरकार द्वारा उठाये जा रहे आर्थिक सुधार के कदमो की चर्चा करते हुए कहा कि भारत की रैंकिंग में इतना सुधार इसलिए आया है क्योंकि पिछले तीन वर्षों में सरकार ने देश के आम नागरिक की जिंदगी में होने वाली मुश्किलों को कम करने के लिए Reform का रास्ता अपनाया है। तीन वर्षों में देश में टैक्स भरने की प्रक्रिया में बहुत सुधार आया है। इनकम टैक्स रिटर्न के लिए अब महीनों इंतजार नहीं करना पड़ा। PF रजिस्ट्रेशन और PF का पैसा निकालने के लिए पहले आपको दफ्तरों के चक्कर लगाने पड़ते थे। अब सब कुछ ऑनलाइन हो गया है। 

Load More Related Articles
Load More By AShish Ranjan
Load More In Uncategorized

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

खुद को सुन्नी वक्फ बोर्ड का वकील ना बताने पर गिरिराज सिंह ने कपिल सिब्बल पर किया बड़ा खुलासा

कल देश की सर्वोच्च अदालत में श्री राम जन्मभूमि केस की सुनवाई शुरू हुई तो कांग्रेस के नेता …