Home Uncategorized आउटसोर्सिंग और निजी क्षेत्र में आरक्षण लागू करना युवाओं के प्रतिभा का कत्ल होगा:ललन सिंह

आउटसोर्सिंग और निजी क्षेत्र में आरक्षण लागू करना युवाओं के प्रतिभा का कत्ल होगा:ललन सिंह

23 second read

बिहार में आउटसोर्सिंग में आरक्षण पर जारी विवाद अभी थमा भी नही था कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने निजी क्षेत्र में आरक्षण की बात कर विवाद को एक नई हवा दे दी है । उनके बयान पर कई लोगो का विरोध देखने को मिल रहा है ।

जन अधिकार पार्टी के प्रदेश महासचिव नलिनी रंजन शर्मा उर्फ ललन सिंह ने मुख्यमंत्री पर हमला बोलते हुए कहा है कि  नीतिश कुमार आज  एक बार फिर से निजी क्षेत्र में आरक्षण पर जोड़ देते हुए इसपर राष्ट्रीय बहस करवाने की बात कर रहे हैं। नीतिश कुमार जी आज उस बिहार के मुख्यमंत्री है जिसने बिना आरक्षण के ना जाने कितने उच्च पदों पर आसीन ऑफिसर, डॉक्टर, इंजीनियर दिए। आरक्षण के मूल के साथ खिलवाड़ करके आउटसोर्सिंग और निजी क्षेत्र में लागू करवाना उन तमाम युवाओं के प्रतिभा का कत्ल होगा जो निरंतर इसी आस में पढ़ते है आगे चल कर निजी क्षेत्र में अपने प्रतिभा के बल पर नौकरी पाएंगे।

ललन सिंह ने अपने कड़े तेवर दिखाते हुए कहा कि जिस दिन से ये तुगलकी निर्णय लिया गया है उस दिन से प्रदेश के तमाम नेता ने कान में तेल डाल कर सो गए है और कोई भी इस मुद्दे पर बोलने तक के लिए तैयार नही है क्योंकि उन्हें अपने वोट बैंक छिटकने का डर है।

जन अधिकार पार्टी के इस नेता ने हाल में डॉ सीपी ठाकुर के आए बयान का समर्थन करते हुए कहा कि मैं सी पी ठाकुर जी का तहे दिल से शुक्रगुज़ार हूँ जिन्होंने पार्टी लाइन से हटकर आने वाले पीढ़ी के भविष्य को लेकर सवाल उठाए। वो तमाम नेता जो अगड़ी पिछड़ी की करके ही सत्ता में तो आ जाते है लेकिन अपने ही समाज के साथ हो रहे अन्याय के खिलाफ बोलने से डरते है क्योंकि उनके लिए सत्ता पहले है। ये मुद्दा राजनीति का नहीं है, अगर आज इसके खिलाफ आवाज़ बुलंद करके इसे पीछे लेने पर मजबूर नहीं किया गया,तो विश्वास रखिये आने वाली पीढ़ी हमे कभी माफ नहीं करेगी।

ललन सिंह ने कहा बिहार के पीड़ित युवाओ के इस लड़ाई को वह अंतिम दौर तक लड़ते रहेंगे और इसके लिए वह सभी को एक करने का प्रयास करेंगे उन्होंने कहा कि ,मैं श्री सी पी ठाकुर जी से भी सम्पर्क करने का प्रयास करूँगा साथ ही आप सभी भूमिहार संगठन और इस तुगलकी फैसले के विरोध में जितने संगठन है उनसे अनुरोध है एक मंच पर आए और एक आवाज़ बनकर गूँगी बेहरी सरकार को मजबूर करे कि फैसला वापस ले।

Load More Related Articles
Load More By AShish Ranjan
Load More In Uncategorized

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Check Also

खुद को सुन्नी वक्फ बोर्ड का वकील ना बताने पर गिरिराज सिंह ने कपिल सिब्बल पर किया बड़ा खुलासा

कल देश की सर्वोच्च अदालत में श्री राम जन्मभूमि केस की सुनवाई शुरू हुई तो कांग्रेस के नेता …