Home Uncategorized आसियान समिट के बीच दो महाशक्तियों का मिलन चीन के लिए क्यों बना सरदर्द Lokmat Live

आसियान समिट के बीच दो महाशक्तियों का मिलन चीन के लिए क्यों बना सरदर्द Lokmat Live

24 second read

पीएम नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने सोमवार को आसियान समिट से इतर द्विपक्षीय मुलाकात की. दोनों नेता बैठक के दौरान कई मुद्दों पर बात की.
 बैठक के बाद पीएम मोदी ने कहा कि अमेरिका और भारत के संबंध तेजी से गहरे हो रहे हैं और उनके बीच मानवता के लिए कुछ बेहतर करने पर चर्चा हुई. इस द्विपक्षीय वार्ता के बाद पीएम मोदी ने कहा कि यह बातचीत बेहद सौहार्दपूर्ण माहौल में हुई है. हम पूरी दुनिया और अमेरिका की अपेक्षाओं पर खरा उतरने का प्रयास करेंगे. इस बैठक में दोनों नेताओं ने एशिया के भविष्य और संबंधों को लेकर चर्चा की. मोदी ने कहा कि अमेरिका और भारत मिलकर पूरी दुनिया के भविष्य को बदल सकते हैं.यह बैठक भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया के बीच हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग के लिए चतुर्भुज प्रक्रिया शुरू करने पर बातचीत के एक दिन बाद हुई।

ट्रंप के साथ बैठक के पहले पीएम मोदी ने कहा था, ‘भारत और अमेरिका के बीच संबंध आगे बढ़ रहे हैं।’

बैठक के बाद प्रधानमंत्री ने कहा, ‘मैं यह महसूस करता हूं कि भारत और अमेरिका के बीच संबंध केवल साझा हितों के लिए नहीं है, बल्कि इससे भी आगे के लिए है और हम एशिया के भविष्य और पूरे विश्व में मानवता के हित के लिए साथ मिलकर काम कर रहे हैं।
 पीएम मोदी ने कहा कि अमेरिका ने जब भी भारत का जिक्र किया है तो बहुत गर्मजोशी से किया है. पीएम मोदी ने भारत की तारीफों के लिए राष्ट्रपति ट्रंप को शुक्रिया कहा. मोदी ट्रम्प मुलाकात की वीडियो

पीएम मोदी ने फिलीपींस के राष्ट्रपति रॉबर्ट दुतेर्ते से भी मुलाकात की । इस सम्मेलन में 10 प्रभावशाली देशों के राष्ट्राध्यक्ष हर वर्ष शिरकत करते हैं. आसियान में ब्रुनेइ कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाइलैंड और विएतनाम जैसे देश शामिल हैं.

इस 10 सदस्यीय आसियान सदस्य देशों के अलावा पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में भारत, चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, अमेरिका और रूस शामिल हैं.

ट्रंप ने कुछ दिन पहले ही पीएम मोदी की जमकर तारीफ करते हुए कहा था कि मोदी ने भारत के लोगों को एक किया है. उन्होंने साथ ही कहा था कि भारत में विकास को भी गति मिली है. ट्रंप ने इसी मंच से चीन की व्यापारिक नीतियों के लिए उसे झिड़का भी था। माना जा रहा है कि इस बैठक में चीन के खिलाफ मोर्चाबंदी भी हो सकती है.

आसियान समिट से इतर पीएम नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के बीच यह मुलाकात बेहद महत्वपूर्ण है.

Load More Related Articles
Load More By AShish Ranjan
Load More In Uncategorized

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Check Also

खुद को सुन्नी वक्फ बोर्ड का वकील ना बताने पर गिरिराज सिंह ने कपिल सिब्बल पर किया बड़ा खुलासा

कल देश की सर्वोच्च अदालत में श्री राम जन्मभूमि केस की सुनवाई शुरू हुई तो कांग्रेस के नेता …