Home Uncategorized ‘ पद्मावती ‘ फिल्म की रिलीज होने से पहले ही विरोध करना ठीक नहीं : कॉंग्रेस

‘ पद्मावती ‘ फिल्म की रिलीज होने से पहले ही विरोध करना ठीक नहीं : कॉंग्रेस

22 second read
0
0
71
भोपाल : संजय लीला भंसाली निर्देशित फिल्म ‘ पद्मावती ‘ का विवादों से शुरू से नाता रहा है। फिल्म पद्मावती भी सिनेमाघरों पर भी रीलीज नहीं हुई है और पूरे देश में ये फ़िल्म मुद्दा का विषय बना हुआ है। अब वहीं कॉंग्रेस विधायक व मध्यप्रदेश नेता प्रतिपक्ष फुम की रिलीज होने से पहले ही लोगों का इस तरह विरोध करना ठीक नहीं मानते।

फिल्म ‘ पद्मावती ‘ का विरोध शूटिंग के दौरान से ही हो रहा। रानी पद्मावती और अल्लाउदीन खिलजी के बीच इंटिमेट सिन दिखाने को लेकर शुरू से ही विरोध होता आ रहा है। विरोध होना भी चाहिए क्योंकि असल जीवन में रानी पद्मावती और अल्लाउदीन खिलजी के बीच ऐसा कुछ नहीं है। रानी पद्मावती ने जौहर कर ली थी। 
पहले राजस्थान में करणी सेना का द्वारा इस फिल्म पद्मावती का विरोध हुआ। करणी सेना के द्वारा शुरू से ही विरोध किया जा रहा है। कई राजनैतिक पार्टियां भी विरोध किया है इस फिल्म का। राजपूतों और हिन्दू संगठनों के द्वारा भी इस फ़िल्म को रिलीज ना करने की हिदायत दी गयी है।
अब इस बीच में मध्यप्रदेश कॉंग्रेस इकाई के विधायक और नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने फिल्म पद्मावती का विरोध करने वालो की मानसिकता को घटिया बताया है।

नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह मानते हैं कि इस फिल्म को लेकर काफी कुछ विवाद हो रहा है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि अभी तो फिल्म रिलीज ही नहीं हुई है तो फिल्म में क्या सही है और क्या गलत कहना बेमानी होगा इसलिए पहले से ही विरोध करना ठीक नहीं है। सिंह ने कहा कि घटिया मानसिकता के लोगों द्वारा बयानबाजी करना आपत्तिजनक है। पहले फिल्म देखें फिर कुछ कहें तो उचित होगा।
उन्होंने कहा कि एक आम नागरिक होने के नाते वे बताना चाहते हैं कि सेंसर बोर्ड अपना काम करती है, हर फिल्म मेकर के पास आर्टिस्टिक लाइसेंस होता है और जब फिल्म किसी ने देखी ही नहीं तो फिर किस चीज की आपत्ति की जा रही है। अजय सिंह का मानना है कि फिल्म पद्मावती एक ऐतिहासिक फिल्म है। जिससे संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित किया गया है।
मेरा बयान कांग्रेस नेता के तौर पर नहीं

नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि फिल्म पद्मावती को लेकर मेरा बयान कांग्रेस नेता के तौर पर नहीं और न ही राजपूत समाज का होने से जोड़ा जाए। मेरा बयान केवल एक आम नागरिक की हैसियत से है। ऐसी परिस्थितियों में जो एक आम आदमी सोचता है, वहीं मैं इस फिल्म के बारे में कह रहा हूं।
अजय सिंह ने कहा कि बिना देखे फिल्म के बारे में पहले से अनुमान नहीं लगाना चाहिए। पहले फिल्म तो देखिए कि उस फिल्म में ऐसा क्या है विवादित है जो उस फिल्म में नहीं होना चाहिए था।
उल्लेखनीय है कि नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के पुत्र अरणेशवर सिंह भी बॉलीवुड में अभिनेता के तौर पर काम करते हैं और वे कई फिल्मों में मुख्य भूमिका भी निभा चुके हैं।
Load More Related Articles
Load More By Ashish Ranjan
Load More In Uncategorized

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

लोकसभा और राज्यसभा सांसदों के बीच अनुराग ठाकुर इकलौतेे सांसद जिसे मोदी ने भेजा इस अंतर्राष्ट्रीय मंच पर

अनुराग ठाकुर ब्रसेल्स(बेल्जियम) में WTO के 41वें संसदीय कॉन्फ्रेंस में भारत 🇮🇳 का प्रतिनिध…