Home देश जानियें क्यों मनाया जाता है सशस्त्र सेना झंडा दिवस 7 दिसंबर को, आप भी करें योगदान और ऐसे निभाएं अपनी भूमिका

जानियें क्यों मनाया जाता है सशस्त्र सेना झंडा दिवस 7 दिसंबर को, आप भी करें योगदान और ऐसे निभाएं अपनी भूमिका

28 second read
0
0
72

भारत वर्ष में सशस्त्र सेना झंडा दिवस 7 दिसम्बर 1949 से भारतीय सेना द्वारा प्रतिवर्ष मनाया जाता है। सशस्त्र सेना झंडा दिवस का उद्देश्य देश वासियों द्वारा सेना के प्रति सम्मान प्रकट करना है। झंडा दिवस का उद्देश्य देश की सुरक्षा में शहीद हुए सैनिकों के परिवार के लोगों के कल्याण के लिए मनाया जाता है। इस दिन झंडे की खरीद से इकठ्ठा हुए धन को शहीद सैनिकों के आश्रितों के कल्याण में खर्च किया जाता है।

हम महफूज हैं, सुकून की नींद ले रहे हैं तो इसका श्रेय हमारे वीर जवानों को जाता है जो दिन-रात देश भर में और सीमा पर चौकस निगाहे रखे हुए हैं। हमें सुरक्षित रखने के लिए अपनी जान तक लुटाने वाले इन वीरों, उनके आश्रितों और पूर्व कर्मियों के कल्याण और देखभाल के लिए धन जुटाने के उद्देश्य से 1949 में आज ही सशस्त्र झंडा दिवस मनाने की शुरुआत हुई।

इनको दी जाती है सहायता
सशस्त्र सेना झंडा दिवस द्वारा इकट्ठा की गई राशि युद्ध वीरांगनाओं, सैनिकों की विधवाओं, भूतपूर्व सैनिक, युद्ध में अपंग हुए सैनिकों व उनके परिवार के कल्याण पर खर्च करती है। आजादी के बाद सरकार को लगने लगा कि सैनिकों के परिवार वालों की भी जरूरतों का ख्याल रखने की आवश्यकता है और इसलिए सरकार ने 7 दिसंबर को सशस्त्र सेना झंडा दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया। 
Sponsored

1949 से हर साल 7 दिसंबर को आम लोगों को सशस्त्र सेना को छोटा झंडा वितरित करके उनसे धन जुटाया जाता है। झंडा दिवस मनाने के लिए 28 अगस्त, 1949 को तत्कालीन रक्षा मंत्री के नेतृत्व में समिति गठित की गई थी। देश के इन वीरों, उनके आश्रितों, युद्ध मे दिव्यांग हुए जवानों और पूर्व सैनिकों की देखभाल प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य है।
देश के लिए दी थी जान की कुर्बानी
आजादी के समय जिसने भी देश की तरफ आंख उठाकर देखने की कोशिश की उसे जाबांज सैनिकों ने मौत के घाट उतार दिया था। सेना में रहकर जिन्होंने न केवल सीमाओं की रक्षा की, बल्कि आतंकवादी व उग्रवादी से मुकाबला कर शांति स्थापित करने में अपनी जान न्यौछावर कर दी। झंडा दिवस उन जांबाज सैनिकों के प्रति एकजुटता दिखाने का दिन है जो साल में एक बार आता है। हमें भी झंडा दिवस कोश में अपना योगदान देने की आवश्यकता है ताकि उन शहीद परिवारों को मदद मिले साथ ही भारत का तिरंगा हमेशा आसमान की ऊंचाइयों को छूता रहे और जिस वीरता के लिए हमारा देश जाना जाता है वह हमेशा बनी रहे।
हम भी ऐसे निभाएं अपनी भूमिका
हम आर्थिक मदद के रूप में छोटा सा सहयोग करके जवानों और उनके आश्रितों की देखभाल कर सकते हैं। इसके लिए केंद्रीय सैनिक बोर्ड ( केएसबी ) की वेबसाइट ksb.gov.in पर जाएं। होमपेज पर ही क्रेडिट/डेबिट कार्ड या नेटबैंकिंग से ऑनलाइन आर्थिक सहायता दे सकते हैं। इसके अलावा 8800462175 पर पेटीएम भी कर सकते हैं। साथ ही होमपेज पर मौजूद क्यूआर कोड को स्कैन कर या यूपीआइ एप से आप armedforcesflagdayfund@sbi पर भी आर्थिक मदद भेज सकते हैं। फन्ड की देखरेख के लिए केएसबी का गठन किया गया।
Load More Related Articles
Load More By Ashish Ranjan
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

अगले 24 घंटे दिल्ली की राजनीती पर भारी,राष्ट्रपति का फैसला बीजेपी कांग्रेस के लिए भी होगी अहम

दिल्ली में अरविंद केजरीवाल की सरकार को तीन साल होने को हैं लेकिन अब आम आदमी पार्टी के 20 व…