Home देश पीएचडी कर रहे एक कश्मीरी छात्र की तस्वीर हुई वायरल;दावा कि वो आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल

पीएचडी कर रहे एक कश्मीरी छात्र की तस्वीर हुई वायरल;दावा कि वो आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल

4 second read

कश्मीर घाटी से एक ऐसी खबर आयी जिसने सबको हैरान कर दिया, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से पीएचडी कर रहे एक कश्मीरी छात्र मन्नान वानी की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई है. इसमें उसने ए-के सैंतालिस राइफल पकड़ी हुई है. दावा किया जा रहा है कि वो आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया है. अब उसकी बहन और माता-पिता उससे घर वापस आने की गुहार लगा रहे हैं.

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में पुलिस के पहुंचने से सनसनी मच गई. वहां पुलिस ने मन्नान वानी के कमरे पर छापा मारकर उसका सामान जब्त कर लिया. उसके बाद यूनिवर्सिटी ने भी उसको सस्पेंड कर दिया है.

मन्नान वानी की मां कह रही हैं: मैं उससे अपील करती हूं एक बार आप आओ, अगर मुझसे कोई गलती हुई है तो मैं उससे माफी मांगती हूं, मैंने अपने खून के एक-एक कतरा उसे दिया, पढ़ाया-लिखाया, बड़ा आदमी बनाया, मुझे क्या पता था कि वो मुझे धोखा करेगा.

मन्नान वानी से घर वापस आने की गुहार लगाते उनके माता-पिता और बहन की हालत खराब है, उन्हें तो यकीन ही नहीं हो रहा कि उनका होनहार बच्चा किसी आतंकी संगठन में शामिल हो सकता है

तस्वीर में ये भी लिखा है कि मन्नान वानी ने 5 जनवरी 2018 को ही हिजबुल मुजाहिदीन ज्वाइन किया है. अब ये तस्वीर असली है या नकली इसकी जांच चल रही है, लेकिन मन्नान वानी के पिता के मुताबिक आखिरी बार उसने अपनी बहन को तीन जनवरी को फोन किया था उसके बाद मन्नान कोई संपर्क नहीं हो पाया है.

मन्नान वानी के पिता बोले: तीन तारीख को मेरा संपर्क उससे हुआ था, 4.22 पर उसका मैसेज उसकी बहन को आया, कुछ फोटो भेजी थी, उसके बाद उससे कोई संपर्क नहीं हो पाया.

– मन्नान वानी जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा का रहने वाला है

– अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में पिछले 5 साल से पढ़ रहा था

– एमफिल कर चुका था, जियोलॉजी में पीएचडी कर रहा था

-कश्मीर घाटी एक बार फिर गोलियों की गूंज से थर्रा उठी.सेना ने एनकाउंटर में एक आतंकी को ढेर कर दिया. लेकिन दो आतंकी भागने में कामयाब रहे.उनकी तलाश जारी है.

Load More Related Articles
Load More By Ashish Ranjan
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Check Also

बलिदान दिवस पर याद की गईं रानी लष्मी बाई और रानी दुर्गावती

 अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा द्वारा प्रदेश कार्यालय पर रानी लष्मी बाई और रानी दुर्गावती का…