Home प्रदेश लालू प्रसाद यादव ने सजा के खिलाफ हाई कोर्ट में की अपील, जमानत की अर्जी भी दी

लालू प्रसाद यादव ने सजा के खिलाफ हाई कोर्ट में की अपील, जमानत की अर्जी भी दी

22 second read

Ranchi: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने चारा घोटाले के देवघर कोषागार से फर्जी निकासी के मामले में मिली सजा के खिलाफ झारखंड हाई कोर्ट में अपनी अपील दाखिल की। और इसके साथ ही उन्होंने जमानत की भी अर्जी दायर की।

लालू यादव और उनके चारा घोटाले के 15 दूसरे सह अभियुक्तों को अदालत ने छह जनवरी को ही वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिये सजा सुनाई थी और सजा सुनाने के बाद आदेश की प्रमाणित कॉपी जेल में भेज दी थी। इसे लेकर दूसरे अधिकतर अभियुक्त भी झारखंड हाई कोर्ट में जमानत के लिए अपील की तैयारी में हैं।

लालू प्रसाद के वकील चितरंजन प्रसाद ने शुक्रवार की शाम को यह जानकारी दी और उन्होंने कहा कि इस मामले पर अगले शुक्रवार यानी 19 जनवरी को सुनवाई होने की संभावना है।

आगे लालू प्रसाद यादव के वकील चितरंजन प्रसाद ने बताया कि अदालत ने शनिवार को ही अपने आदेश की प्रमाणित प्रतिलिपी जेल में लालू यादव के पास भिजवा दी थी। इसके आधार पर अपील की तैयारी की गई और आज झारखंड हाई कोर्ट में अपील दाखिल की गई।

आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद को 950 करोड़ रुपये के चारा घोटाले में दूसरी बार आपराधिक षड्यंत्र और भ्रष्टाचार की धाराओं के तहत छह जनवरी को सजा सुनाई गई।

गौरतलब है कि लालू प्रसाद को चारा घोटाले के एक अन्य मामले में 30 सितंबर 2013 को रांची स्थित सीबीआई की विशेष अदालत ने लालू प्रसाद सहित कुल 45 अभियुक्तों को दोषी करार दिया था। तीन अक्टूबर 2013 को सीबीआई की विशेष अदालत ने उन्हें पांच साल की सजा सुनाई और वे जेल भेज दिए गए थे। दो माह दस दिन बाद लालू प्रसाद सुप्रीम कोर्ट से जमानत पर रिहा हुए थे।

लालू यादव को विशेष सीबीआई अदालत ने छह जनवरी को देवघर कोषागार से 89 लाख 27 हजार रुपये के फर्जी ढंग से गबन के आरोप में भारतीय दंड संहिता ( आईपीसी ) की धारा 120बी, 420, 467, 471 और 477ए के तहत जहां साढ़े तीन वर्ष कैद और पांच लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई थी। वहीं उन्हें भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं के आधार पर दोषी करार देते हुए भी अलग से साढ़े तीन साल कैद और पांच लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई थी।

जुर्माना न अदा करने की स्थिति में लालू यादव को छह माह अतिरिक्त जेल की सजा काटनी होगी।

Load More Related Articles
Load More By Piyush Singh
Load More In प्रदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Check Also

ए. एन. कॉलेज में दो दिवसीय इंस्पिरेशनल केमिस्ट्री कार्यशाला का आयोजन हुआ

Lokmat LIVE Desk:- माइक्रो स्केल प्रायोगिक तकनीक द्वारा कई प्रयोग किए गए जिससे कम से कम रस…