Home बिहार लालू की भ्रष्टाचार की विरासत संभालने के ’दागी युवराज’ तेजस्वी जी दांवपेंच सीख रहे हैं: जदयू

लालू की भ्रष्टाचार की विरासत संभालने के ’दागी युवराज’ तेजस्वी जी दांवपेंच सीख रहे हैं: जदयू

2 second read

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव अपनी ‘संविधान बचाओ न्याय यात्रा’ के मद्देनजर सोमवार को मधुबनी जिले में हैं। उसके पहले जदयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने चुन चुन के राजद पर हमला बोला है ।

जदयू ने प्रेस रिलीज जारी कर कहा है राजद के प्रमुख लालू प्रसाद जी की भ्रष्टाचार की विरासत संभालने के लिए उनके पुत्र और ’दागी युवराज’ तेजस्वी प्रसाद जी दांवपेंच सीख रहे हैं। यही कारण है कि कांग्रेस की घुड़की के सामने पूरा राजद दंडवत दे रहा है। इसी घुड़की के कारण राजद को उपचुनाव में कांग्रेस के लिए भभुआ सीट भी छोड़नी पड़ी।

नीरज कुमार ने आगे कहा है कि जीएसटी (गुंडा सर्विस टैक्स) वसूलने के लिए चर्चित राजद की विरासत संभाल रहे तेजस्वी जी, आज अपनी फर्जी न्याय यात्रा के तहत मधुबनी में हैं। यहां की शांतिप्रिय जनता आज भी 1991 से 2005 तक के उस बिहार को नहीं भूल पा रही है, जब यहां 5,243 लोगों को फिरौती के लिए अपहरण कर लिया गया था और फिर इन अपहरणकर्ताओं से भी जीएसटी वसूला जाता था।

नीरज कुमार ने कहा है की कई लोग आज कहते भी हैं, कि इसी करनी का फल है कि लालू प्रसाद जी जेल में हैं। राजद भले ही इसके लिए दोष किसी को दे दें। संत कबीर ने एक दोहे में कहा है –

जैसी करनी आपनी, तैसा (वैसा) ही फल लेय (होय)।
बुरे करम (कर्म) कमाईके, साईं दोष न देय।।

  • आंकड़ो से तुलना करते हुए नीरज कुमार ने तथ्य सामने रखते हुए कहा की तेजस्वी जी, विकास के मामले में राजद वर्तमान शासनकाल की तुलना में बहुत पीछे है। नीतीश जी की सरकार मधुबनी जिले में अब तक 1,834 लाख रुपये खर्च कर 177 कब्रिस्तानों की घेराबंदी करवा चुकी है, राजद के शासनकाल में यह उपलब्धि शून्य थी। आज मधुबनी जिले के 97 मदरसों में 20,765 बच्चे शिक्षाग्रहण कर रहे हैं।
    यही नहीं, अल्पसंख्यक बच्चों को शिक्षा के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए सरकार ने वर्ष 2016-17 में मुख्यमंत्री विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना (अल्पसंख्यक) के तहत 3.33 करोड रुपये मधुबनी जिले के लिए आवंटित किए हैं। इसी तरह इस जिले में एसटी, एससी छात्रवृत्ति के तहत 12 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों को जबकि पिछड़ा, अतिपिछड़ा समुदाय के 1.09 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति दी जा चुकी है।
  • सडक कनेक्टिविटी के बारे में बात करते हुए कहा की किसी भी क्षेत्र की तरक्की का पैमाना वहां की सडक होती है। इस सरकार के कार्यकाल में मधुबनी जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में 4,103 किलोमीटर सड़क निर्माण की स्वीकृति प्रदान की गई है, जिसमें 2,846 किलोमीटर सड़क का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है।
  • राजद और जदयू सरकार की तुलना करते हुए जदयू प्रवक्ता ने कहा की लालू  प्रसाद जी और उनकी पत्नी राबडी देवी जी के 15 साल के शासनकाल की तुलना में नीतीश कुमार जी के 12 साल के कार्यकाल में मधुबनी जिले में हत्या के मामलों में पांच प्रतिशत की गिरावट आई, वहीं फिरौती के लिए अपहरण के मामलों में 60 प्रतिशत की गिरावट आयी है।

  • नीतीश कुमार जी के नेतृत्व वाली सरकार में मधुबनी जिले में 2005-06 में 2,593 स्कूलों में 6,71,221 विद्यार्थी पढ़ते थे वहीं 2015-16 में यहां के 3,279 स्कूलों में 10 लाख से ज्यादा बच्चे अध्ययनरत हैं। इसी तरह शिक्षकों की संख्या उस दौर में जहां 11,761 थी वहीं अब यह संख्या बढकर 19,008 तक पहुच गई है।यही नहीं, मधुबनी जिले में नीतीश जी के शासनकाल में 96 उत्क्रमित उच्च माध्यमिक विद्यालय हुए जबकि 16 मध्य से माध्यमिक विद्यालय में उत्क्रमित किए गए।
Load More Related Articles
Load More By lokmat live desk
Load More In बिहार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Check Also

विशाल सिंह के नेतृत्व में क्षत्रिय महासभा ने कराया पटना बंद

Sc/st एक्ट के विरोध में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा द्वारा आज पटना के पाटलिपुत्र में भारत …