Home देश हिंदुस्तान की राजनीति में कुछ चुनाव ऐसे होते हैं जिसकी इतिहास में लम्बे अर्से तक चर्चा होती है:मोदी

हिंदुस्तान की राजनीति में कुछ चुनाव ऐसे होते हैं जिसकी इतिहास में लम्बे अर्से तक चर्चा होती है:मोदी

30 second read
0
0
22

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने त्रिपुरा में भारतीय जनता पार्टी को मिली शानदार जीत के बाद अगरतला के राइफल मैदान में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह के बाद एक विशाल जनसभा को संबोधित किया. प्रधानमंत्री  ने अपने संबोधन में भारतीय जनता पार्टी की ओर से त्रिपुरावासियों को धन्यवाद दिया और उन्हें भरोसा दिलाते हुए कहा कि त्रिपुरा के लोगों ने जिन सपनों के साथ भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाई है, त्रिपुरा की टीम भाजपा उन सारे सपनों को पूरा करने की दिशा में कार्य करेगी.

प्रधानमंत्री ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि आज त्रिपुरा में फिर से एक नया उमंग, नया उत्साह और विश्वास पैदा हुआ है. उन्होंने भाजपा की त्रिपुरा जीत की विशेषताओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हिंदुस्तान की राजनीति में कुछ चुनाव ऐसे होते हैं जिसकी इतिहास में लम्बे अर्से तक चर्चा होती रहती है. ये चुनाव अपने आप में भारत के लोकतंत्र के एक विशेष पहलू को उजागर करती हैं. देश के ऐसे गिने-चुने कुछ चुनाव हैं और त्रिपुरा उन गिने-चुने चुनाओं में सिरमौर बन गया है जिसकी आने वाले दिनों में चर्चा होती रहेगी. प्रधानमंत्री ने इस इतिहास को रचने का श्रेय त्रिपुरा के जागरूक नागरिकों को देते हुए कहा कि यह सरकार उनके लिए है जिन्होंने हमें वोट दिए और उनके लिए भी है जिन्होंने हमें वोट नहीं दिए. त्रिपुरा का हर नागरिक हमारा है और यहाँ की हर समस्या का समाधान करना हमारा सामूहिक दायित्व है जिसे पूरी तरह निभाने का प्रयास किया जाएगा.

प्रधानमंत्री ने नार्थ-ईस्ट चुनावों की उपादेयता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इस चुनाव की सबसे बड़ी सिद्धि यही है कि इस चुनाव के बाद हर हिन्दुस्तानी को नार्थ-ईस्ट के प्रति अपना विशेष लगाव प्रकट करने का मौका मिला है जो देश की एकता के लिए बहुत बड़ा अवसर बनकर उभरा है.

श्री मोदी ने कहा कि हिंदुस्तान में आजादी के बाद कई प्रधानमंत्री बने लेकिन उन सभी को मिलाकर जितनी बार वे नार्थ-ईस्ट आए होंगे, उन सभी में सर्वाधिक, 25 बार से ज्यादा, नार्थ-ईस्ट आने का अवसर मुझे मिला. उन्होंने कहा कि ये महज चुनावी हिसाब-किताब से नहीं किया बल्कि देश के सुदूर इलाकों में रहने वाले लोगों को भी लगना चाहिए कि भारत उनके लिए है, भारत उनकी चिंता करता है. हर नागरिक को भारत माता की जय बोलने की अनुभूति होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि विगत चार साल के प्रयासों में नार्थ-ईस्ट के हर नागरिक के दिल में इसकी अनुभूति हुई है कि हर हिन्दुस्तानी उनके साथ भावनात्मक रूप से जुड़ा है और यह अनुभूति देश की बहुत बड़ी नई ताकत है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी को जहाँ-जहाँ सेवा करने का मौका मिला और जहाँ-जहाँ सरकारें बनाने का अवसर मिला, विकास हमारी प्राथमिकता रही. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का मंत्र है- सुशासन, सबका साथ-सबका विकास और जनभागीदारी से जनतंत्र. त्रिपुरा के निवासी भी अनुभव करेंगे कि जनभागीदारी के साथ चलने वाली भाजपा की सरकार कितनी तेज गति से परिणाम लाती है.

प्रधानमंत्री ने त्रिपुरा की जनता का आह्वान करते हुए कहा कि त्रिपुरा की एक-एक समस्या का समाधान करते हुए त्रिपुरा को एक नई ऊँचाई पर ले जायेंगे और पिछले वर्षों में जो न हुआ हो उससे भी बेहतर करने का प्रयास करेंगे जो त्रिपुरावासी की जिन्दगी बदलने में कारगर होगी. उन्होंने विश्वास दिलाते हुए कहा कि त्रिपुरा के निवासियों ने जिन सपनों के साथ भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाई है, उन सपनों को पूरा करने के लिए भारतीय जनता पार्टी कटिबद्ध रहेगी.

Load More Related Articles
Load More By Ashish Ranjan
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Check Also

बिहार की बेटी कल्पना बनी आल इंडिया NEET टॉपर,राज्य में खुशी का माहौल

NEET के परिणाम सीबीएसई द्वारा घोषित किए गए हैं और 2018 NEET परिणाम cbseresults.nic.in पर च…