Home लोकमत स्पेशल नार्थ ईस्ट में भगवा लहराने और “लाल दुर्ग” के ढहने के मायने एवं इनका 2019 में अहम प्रभाव निश्चित

नार्थ ईस्ट में भगवा लहराने और “लाल दुर्ग” के ढहने के मायने एवं इनका 2019 में अहम प्रभाव निश्चित

31 second read
0
0
29

त्रिपुरा में 25 साल पुराना ‘लाल’ किला ढह गया। त्रिपुरा के साथ-साथ पूर्वोत्‍तर के दो अन्‍य राज्‍य नगालैंड और मेघालय में भी विधानसभा चुनाव संपन्‍न हुए, जिसके नतीजे केंद्र में सत्‍तारूढ बीजेपी के लिए जहां उत्‍साह बढ़ाने वाला है, वहीं कांग्रेस के लिए मनोबल गिराने वाला है, जो आगामी 2019 के चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली बीजेपी को टक्‍कर देने की सोच रही है। अगले आम चुनाव से ठीक पहले 2018 का यह बड़ा जनादेश बीजेपी की व्‍यावहारिक और वैचारिक राजनीति को भी मजबूती प्रदान करता है।

इस बड़े बदलाव के मायने एव इनके कारण के मुख्य अंश

  • त्रिपुरा के लोगों ने प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में जो विश्वास जताया है त्रिपुरा की भाजपा सरकार उनकी सारी आशाओं-आकांक्षाओं की पूर्ति करके त्रिपुरा को एक मॉडल स्टेट बनाने की दिशा में कार्य करेगी.
  • प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा त्रिपुरा को शांति और विकास के मार्ग पर आगे ले जायेगी.
  • आजादी के बाद नार्थ-ईस्ट के विभिन्न राज्यों के लिए बजट का आवंटन तो होता था लेकिन वह विकास में परिवर्तित नहीं हो पाता था.
  • नरेन्द्र मोदी सरकार बनने के बाद पूरे नार्थ-ईस्ट में विकास द्रूतगति से आगे बढ़ा है और आज त्रिपुरा में भाजपा की सरकार बनने के साथ ही यहाँ विकास का रास्ता खुल चुका है.

  •  त्रिपुरा में शपथग्रहण के साथ ही नार्थ-ईस्ट के 8 में से 7 राज्यों में एनडीए की सरकार बनने का काम पूरा हो गया.
  • प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी जी ने नार्थ-ईस्ट पर विशेष ध्यान देते हुए बजट का आवंटन कई गुणा बढ़ाया.
  • पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई के बाद नार्थ-ईस्ट कौंसिल की बैठक में हिस्सा लेने वाले पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हैं.
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नार्थ-ईस्ट के विकास को ही नहीं बल्कि यहाँ की संस्कृति को संरक्षित और संवर्द्धित करने के लिए भी कई कदम उठाये.
  • 2014 में केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद पूरे नार्थ-ईस्ट के अन्दर शांति का एक नया युग प्रारंभ हुआ है.

  • भाजपा की सरकार बनने के बाद त्रिपुरा में भी सहयोग का एक नया युग शुरू होगा और यहाँ की जनता की सभी आशाओं-आकांक्षाओं की पूर्ति होगी.
  • त्रिपुरा के निवासियों ने जिन अपेक्षाओं और सपनों के साथ भारतीय जनता पार्टी को जनादेश दिया है, उन सपनों को पूरा करने के लिए भारतीय जनता पार्टी कटिबद्ध है।
  • यह सरकार त्रिपुरा की जनता की सरकार है, यह सरकार शोषित, वंचित, गरीब, आदिवासी, जनजाति, अनुसूचित और हर वर्ग के विकास के लिए वचनबद्ध है।

  • त्रिपुरा चुनाव पर और यहाँ की महान जनता के द्वारा दिये जाने वाले निर्णय पर पूरे देश की नजर थी। जिसकी चर्चा वाले दिनों में होती रहेगी.
  • इस चुनाव की सबसे बड़ी उपलब्धि यही है कि इस चुनाव के बाद हर हिन्दुस्तानी को नार्थ-ईस्ट का निकट से अनुभव हुआ। समृद्ध संस्कृति, जैव विविधताओं और देश से असीम प्रेम करने वाला यह महान क्षेत्र देश की एकता अखण्डता के लिए बहुत बड़ा अवसर बनकर उभरा है.
  • विगत चार साल के प्रयासों में नार्थ-ईस्ट के हर नागरिक के दिल मे गहराई से यह अनुभूति हुई है कि हर हिन्दुस्तानी उनके साथ भावनात्मक रूप से जुड़ा है और इस भाव उतपन्न होना देश के सुखद भविष्य के लिए बहुत बड़ी ताकत है.
  • भारतीय जनता पार्टी का मंत्र है- सुशासन, सबका साथ-सबका विकास और जनभागीदारी से लोकतन्त्र को समृद्ध करना।
Load More Related Articles
Load More By Ashish Ranjan
Load More In लोकमत स्पेशल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Check Also

बिहार की बेटी कल्पना बनी आल इंडिया NEET टॉपर,राज्य में खुशी का माहौल

NEET के परिणाम सीबीएसई द्वारा घोषित किए गए हैं और 2018 NEET परिणाम cbseresults.nic.in पर च…