Home राजनीति राहुल गांधी के हाथ लगा ऐसा तुरुप का इक्का, अब से हर चुनाव जीतेगी कांग्रेस

राहुल गांधी के हाथ लगा ऐसा तुरुप का इक्का, अब से हर चुनाव जीतेगी कांग्रेस

2 second read

राहुल गांधी ने जन आक्रोश रैली में भरी हुंकार, अबके बाद से हर चुनाव में जीत हासिल करेगी कांग्रेस, 2019 में भी कांग्रेस पार्टी की ही होगी जीत, हम हिंदुस्तान को लीडरशिप देना चाहते हैं, युवाओं को आगे लाना चाहते हैं, इसी सोच से आगे बढ़ेगा देश, कांग्रेस पार्टी का हर कार्यकर्ता शेर का बच्चा, जीत कर रहेगा, राहुल ने कर्नाटक चुनाव के बाद छुट्‌टी पर जाने की भी कर दी है घोषणा.

राहुल ने किया दावा, अब हर चुनाव जीतेगी कांग्रेस.
राहुल गांधी के हाथ ऐसा क्या तुरुप का इक्का लग गया है कि उन्होंने आगे से हर चुनाव में जीत का दावा ठोंक दिया? जन आक्रोश रैली के दौरान जब कांग्रेस अध्यक्ष ने जब यह दावा किया तो लगभग हर किसी के मन में यह सवाल उठा। इस सवाल का जवाब क्या होगा, इस विश्लेषण होना बाकी है। दावे की हकीकत का पता 15 मई को पहली बार चल जाएगा, जब कर्नाटक विधानसभा चुनाव के परिणाम आएंगे। हालांकि, हाल के समय में ऐसे कई घटनाक्रम एक साथ घटे हैं, जो कांग्रेस को थम्स अप दे रहे हैं। केंद्र सरकार रेप के मामलों में जोरदार तरीके से घिरी। कठुआ व उन्नाव की घटनाओं ने भाजपा को बैकफुट पर धकेला, तो कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे बढ़कर मुद्दे को अपने हाथ में ले लिया। कांग्रेस अध्यक्ष ने पीएम नरेंद्र मोदी को हर मोर्चे पर विफल करार देकर अपने कड़े तेवर का इजहार कर दिया है। अब भाजपा की ओर से इसकी क्या प्रतिक्रिया आती है, देखने वाली बात होगी.

पीएम नरेंद्र मोदी को हर मोर्चे पर राहुल गांधी ने विफल करार दिया.
कांग्रेस लगातार नोटबंदी, जीएसटी, बैंक घोटाला, राफेल डील जैसे मामलों को उठाकर सरकार को घेरने की कोशिश कर रही है। हालांकि, इन मामलों में सीधे तौर पर मोदी सरकार के किसी भी मंत्री के फंसने का मामला सामने नहीं आ पाया है। लेकिन, कांग्रेस पूरी भाजपा को कटघरे में खड़े करने में सफल रही और भाजपा की ओर से इन मामलों में सतोषजनक जवाब नहीं आ पाया है। ऐसे में कांग्रेस अध्यक्ष मानकर चल रहे होंगे कि अगर देश में सरकार के खिलाफ अगर नकारात्मक माहौल बनाने का प्रयास किया जाए तो सफलता मिल सकती है। ठीक वैसे ही, जैसे 2014 में नरेंद्र मोदी ने 2014 में मनमोहन सिंह सरकार के खिलाफ नकारात्मक माहौल खड़ा कर दिया था। जन आक्रोश रैली कुछ इसी प्रकार के उद्देश्यों को सार्थक करती दिख रही है।

राहुल ने 2019 में भी केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनाने की कर दी है घोषणा.
रैली में राहुल गांधी ने पूरे जोश के साथ घोषणा की कि कर्नाटक, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी जीतेगी। 2019 में कांग्रेस पार्टी जीतेगी, क्योंकि कांग्रेस पार्टी का कार्यकर्ता शेर का बच्चा है। अब सवाल उठता है कि राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष बनने से पहले क्या ये शेर के बच्चे पार्टी कार्यकर्ता जंगल में आराम कर रहे थे या सो रहे थे। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हम हिन्दुस्तान में लीडरशिप देना चाहते हैं। हम युवाओं को आगे लाना चाहते हैं। यही सोच हिन्दुस्तान को आगे लेकर जा सकती है। लेकिन, सवाल यह है कि मध्य प्रदेश में पार्टी की कमान युवा ज्योतिरादित्य सिंधिया को देने की जगह राहुल ने बुजुर्ग कमलनाथ को दे दी। इस प्रकार उनकी बातों में विरोधाभास साफ दिखा।

राहुल ने कर्नाटक चुनाव के बाद छुट्‌टी पर जाने की भी कर दी है घोषणा.
राहुल ने यह भी कह दिया कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव समाप्त होने के बाद वे 10-15 दिन की छुट्‌टी पर जाने वाले हैं। विपक्षी उनके इस कदम को पलायनवादी प्रवृत्ति बताते रहे हैं। चुनावों के बाद उनके देश छोड़कर जाने के पीछे यह लॉजिक दिया जाता है कि राहुल जी को लग जाता है कि पार्टी हारेगी। सवाल उठेंगे तो उस समय मीडिया या कार्यकर्ता का सामना ही नहीं किया जाए। हालांकि, इस बार उन्होंने कारण अलग गिनाया है। कर्नाटक चुनाव प्रचार के दौरान विमान में आई खराबी को इसका आधार बनाया है। राहुल ने कहा कि दो-तीन दिन पहले हम कर्नाटक जा रहे थे। हवाई जहाज आठ हजार फुट नीचे की ओर गिरा। मैंने सोचा, चलो गाड़ी गई। मेरे दिमाग में आया कि मुझे कैलाश मानसरोवर जाना है। मुझे कर्नाटक चुनाव के बाद 10-15 दिन की छुट्टी चाहिए होगी, ताकि मैं वहां जा सकूं।

Load More Related Articles
Load More By lokmat live desk
Load More In राजनीति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Check Also

विशाल सिंह के नेतृत्व में क्षत्रिय महासभा ने कराया पटना बंद

Sc/st एक्ट के विरोध में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा द्वारा आज पटना के पाटलिपुत्र में भारत …