Home राजनीति कर्नाटक के 24वें सीएम होंगे कुमारस्वामी, शपथ ग्रहण के मंच पर 2019 का नजारा

कर्नाटक के 24वें सीएम होंगे कुमारस्वामी, शपथ ग्रहण के मंच पर 2019 का नजारा

0 second read

कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण के मंच पर दिखेगा विपक्षी एकता का नजारा, मोदी विरोध के नाम पर एकजुट हुए दलों के बीच मुख्य फोकस में रहेंगे राहुल गांधी, यूपीए की ओर से अब उनके 2019 के लोकसभा चुनाव में विपक्ष की ओर से प्रधानमंत्री पद का दावेदार बनाए जाने पर लग जाएगी मुहर.

जनता दल सेक्युलर विधायक दल के नेता एचडी कुमारस्वामी बुधवार शाम 4.30 बजे कर्नाटक के 24वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। कुमारस्वामी ने विधानसभा चुनाव कांग्रेस व भाजपा विरोध पर लड़ा। हालांकि, एक जनसभा में कुमारस्वामी ने कहा था कि देश के लिए भारतीय जनता पार्टी से अधिक खतरनाक कांग्रेस है, क्योंकि इस पार्टी की नीतियां देश के लिए सही नहीं है। कांग्रेस समाज को बांटने का कार्य करती है। अब उसी कांग्रेस के साथ उनकी सरकार बनेगी। शपथ ग्रहण का मंच 2019 लोकसभा चुनाव से पहले विपक्ष के शक्ति प्रदर्शन का मंच बनने जा रहा है। भले ही कांग्रेस कुमारस्वामी की सरकार में सहयोगी की भूमिका में है, लेकिन 78 विधायकों वाली पार्टी का पूरा दबदबा सरकार पर रहेगा

कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में एक खास बात नजर आने वाली है, इस मंच पर 2019 का संभावित मोदी विरोधी मोर्चा दिखेगा। मौजूदा समय में देश की 122 लोकसभा सीटों पर इस मोर्चे का कब्जा है। 2019 के लोकसभा चुनाव में यह मोर्चा नरेंद्र मोदी व उनकी टीम को टक्कर देता दिखाई देगा। हालांकि, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने इस प्रकार की किसी टक्कर से इंकार किया है। उनका कहना है कि यह मोर्चा केवल एक चेहरे के विरोध में है। सरकार की खामियां गिनाने के लिए इनके पास कोई मुद्दा नहीं है। ये सब केवल मोदी विरोध के नाम पर लोगों को एकजुट करने का प्रयास कर रहे हैं। देश की जनता इनको देख रही है। वैसे भी एकजुटता का कोई खास असर राष्ट्रीय राजनीति पर नहीं पड़ने वाला। वैसे, यह बात तो 2019 के लोकसभा चुनाव में साबित होगा कि यह गठबंधन कितना असरदार होगा।

कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण के दौरान तो यह जरूर आकार लेता दिखेगा। कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह के मंच पर मुख्य रूप से कांग्रेस की ओर से पूर्व अध्यक्ष व यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मौजूद रहेंगे। माना जा रहा है कि इस मंच पर तमाम चेहरों के बीच राहुल ही मुख्य फोकस में होंगे। यह भी मान लिया जाएगा कि यूपीए के जो भी सहयोगी इस मंच पर मौजूद होंगे, वे राहुल गांधी को मोर्चा का प्रधानमंत्री उम्मीदवार स्वीकार कर लेंगे। कर्नाटक की धरती पर ही पहली बार बार राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री बनने की इच्छा जताई थी और कुमारस्वामी का शपथ ग्रहण समारोह का मंच अब उनकी यूपीए में स्वीकार्यता का गवाह बनने जा रहा है।

शपथ ग्रहण समारोह में पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी भी शामिल होंगी, जिन्होंने पिछले दिनों तीसरे मोर्चे को एक स्वरूप देने का प्रयास किया। तेलंगाना राष्ट्र समिति के अध्यक्ष के. चंद्रशेखर राव को आगे कर उन्होंने गैर भाजपा गैर कांग्रेस गठबंधन को धरातल पर उतारने की कोशिश की। चंद्रशेखर राव ने पहले ही बेंगलुरु पहुंच कर कुमारस्वामी को बधाई दी है। इसके अलावा आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू, सीताराम येचुरी व केरल के सीएम पिनाराई विजयन, सपा के अखिलेश यादव, बसपा सुप्रीमो मायावती, राजद नेता तेजस्वी यादव और आम आदमी पार्टी अध्यक्ष व दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल इस मंच पर मौजूद होंगे। इन दलों के बीच से कई प्रधानमंत्री पद के दावेदारी हैं। लेकिन, अब वे सब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को इस कार्यक्रम के जरिए अपना नेता मान लेंगे।

कुमारस्वामी के अलावा उप मुख्यमंत्री के तौर पर कांग्रेस के जी. परमेश्वर भी शपथ ग्रहण करेंगे। सरकार बनाने व चलाने के लिए जेडीएस व कांग्रेस के बीच जो फॉर्मूला तय हुआ है, उसके आधार पर जेडीएस के 12 व कांग्रेस के 22 मंत्री होंगे। विधानसभा अध्यक्ष भी कांग्रेसी ही होगा। कांग्रेस ने यह पद केआर रमेश कुमार को देने का फैसला लिया है। शपथ ग्रहण के अगले ही दिन यानी 24 मई को कुमारस्वामी कर्नाटक विधानसभा में बहुमत साबित करेंगे और इसके बाद ही मंत्रियों के विभागों का बंटवारा भी किया जाएगा। कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा कि दोनों दलों के बीच सभी प्रकार के मतभेद सुलझा लिए गए हैं। दोनों दल कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के तहत सरकार को आगे बढ़ाने के लिए तैयार हैं।

Load More Related Articles
Load More By lokmat live desk
Load More In राजनीति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Check Also

विशाल सिंह के नेतृत्व में क्षत्रिय महासभा ने कराया पटना बंद

Sc/st एक्ट के विरोध में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा द्वारा आज पटना के पाटलिपुत्र में भारत …